09_14


Free Download And Play Online Mata Rani Bhajans O Sherawaliye O Mehrawaliye...

तेरी जय जय शेरांवालिये ..तेरी जय जय शेरांवालिये ..
कर कृपा आंबे रानीये ...कर कृपा मेहरवालियें...

Free Download Maa Sherawaliye Mp3 Bhajans Here :-



6. NANGE NANGE PAON DEVA {BHAKTI MEIN SHAKTI}.MP3

7. MATA TERI JYOT MAIN.MP3

8. O MAA MERI PAT RAKHIYO {JAI JWALA}.MP3

9. O MAA O MAA {KOI NA JANE RE}.MP3

10. O MAA SHERAWALI MAA {YAAR GARIBAN DA}.MP3


माँ मुझे तेरी जरूरत है
माँ मुझे तेरी जरूरत है
कब डालोगी मेरे घर फेरा
तेरे बिन जी नहीं लगता मेरा
माँ मुझे तेरी जरूरत है

कोई न सहारा बेसहारा अम्बे राणीये
जाऊँगा ना खाली तेरे द्वार से
तू है मेरी माता यह तो सारा ज़ग जानता है
बेटा कह दे तू भी कभी प्यार से
हे माँ मुझे तेरी जरूरत है
मुझे दाती दुखों ने घेरा
तेरे बिन जी नहीं लगता मेरा
माँ मुझे तेरी जरूरत है

तेरे बिन मैया इक पल भी न गुजरे
बोल कैसे ज़िन्दगी गुजारूं में
हर पल याद सताए तेरी अम्बिके
हर पल तुझको पुकारूँ मैं
हे माँ मुझे तेरी जरूरत है
कब होगा सुखों का सवेरा
तेरे बिन जी नहीं लगता मेरा
माँ मुझे तेरी जरूरत है

कोई भी सवाली तेरा दर्र पे जो आया
कभी....खाली न लौटाया महारानिये
रखों मेरी लाज कभी रहूँ ना मोहताज
तेरा युगों तक राज रहे रानिये
हे माँ मुझे तेरी जरूरत है
मेरे दिल मे करो बसेरा
तेरे बिन जी नहीं लगता मेरा
माँ मुझे तेरी जरूरत है


झंडेवाली मैया जो भी झुका तेरे चरणों में
झंडे झूले उसके आसमान में
तेरा जो दीवाना ज़ग उसका दीवाना
मिले मान उसे सारे ही जहान में
हे माँ मुझे तेरी जरूरत है
मैं चंचल बाल हूँ तेरा ...
तेरे बिन ज़ी नहीं लगता मेरा
माँ मुझे तेरी जरूरत है
कब डालोगी मेरे घर फेरा ...

...जय जय माँ !!!!



Enjoy Shri Maa Durga Chalisa In Hindhi And English

लाल रंग की चुनरी से सजा माँ का दरबार,
खुशियों से झूम उठा है देखो ये संसार....

Free Download Maa Durga Chalisa And Bhajans :-


1. SHRI DURGA CHALISA.MP3

 2. SABKI RAKSHA KARNE WALI {CHAMBAL KA BADSHAH}.MP3

 3. SHAKTI DE MAA {ASHANTI}.MP3

 4. SHEROWALI MATA KA JAB {AMBA}.MP3

 5. TERI JYOT AKHAND HAI MAIYA {PYASI MAMTA}.MP3


Shri Durga Chalisa In Hindhi :-


।। दुर्गा चालीसा ।।

नमो नमो दुर्गे सुख करनी। नमो नमो अंबे दुःख हरनी॥
निरंकार है ज्योति तुम्हारी। तिहूं लोक फैली उजियारी॥
शशि ललाट मुख महाविशाला। नेत्र लाल भृकुटि विकराला॥
रूप मातु को अधिक सुहावे। दरश करत जन अति सुख पावे॥

तुम संसार शक्ति लै कीना। पालन हेतु अन्न धन दीना॥
अन्नपूर्णा हुई जग पाला। तुम ही आदि सुन्दरी बाला॥
प्रलयकाल सब नाशन हारी। तुम गौरी शिवशंकर प्यारी॥
शिव योगी तुम्हरे गुण गावें। ब्रह्मा विष्णु तुम्हें नित ध्यावें॥

रूप सरस्वती को तुम धारा। दे सुबुद्धि ऋषि मुनिन उबारा॥
धरयो रूप नरसिंह को अम्बा। परगट भई फाड़कर खम्बा॥
रक्षा करि प्रह्लाद बचायो। हिरण्याक्ष को स्वर्ग पठायो॥
लक्ष्मी रूप धरो जग माहीं। श्री नारायण अंग समाहीं॥

क्षीरसिन्धु में करत विलासा। दयासिन्धु दीजै मन आसा॥
हिंगलाज में तुम्हीं भवानी। महिमा अमित न जात बखानी॥
मातंगी अरु धूमावति माता। भुवनेश्वरी बगला सुख दाता॥
श्री भैरव तारा जग तारिणी। छिन्न भाल भव दुःख निवारिणी॥

केहरि वाहन सोह भवानी। लांगुर वीर चलत अगवानी॥
कर में खप्पर खड्ग विराजै। जाको देख काल डर भाजै॥
सोहै अस्त्र और त्रिशूला। जाते उठत शत्रु हिय शूला॥
नगरकोट में तुम्हीं विराजत। तिहुँलोक में डंका बाजत॥

शुम्भ निशुम्भ दानव तुम मारे। रक्तन बीज शंखन संहारे॥
महिषासुर नृप अति अभिमानी। जेहि अघ भार मही अकुलानी॥
रूप कराल कालिका धारा। सेन सहित तुम तिहि संहारा॥
परी गाढ़ सन्तन पर जब जब। भई सहाय मातु तुम तब तब॥

आभा पुरी अरु बासव लोका। तब महिमा सब रहें अशोका॥
ज्वाला में है ज्योति तुम्हारी। तुम्हें सदा पूजें नर-नारी॥
प्रेम भक्ति से जो यश गावें। दुःख दारिद्र निकट नहिं आवें॥
ध्यावे तुम्हें जो नर मन लाई। जन्म-मरण ताकौ छुटि जाई॥

जोगी सुर मुनि कहत पुकारी। योग न हो बिन शक्ति तुम्हारी॥
शंकर आचारज तप कीनो। काम क्रोध जीति सब लीनो॥
निशिदिन ध्यान धरो शंकर को। काहु काल नहिं सुमिरो तुमको॥
शक्ति रूप का मरम न पायो। शक्ति गई तब मन पछितायो॥

शरणागत हुई कीर्ति बखानी। जय जय जय जगदम्ब भवानी॥
भई प्रसन्न आदि जगदम्बा। दई शक्ति नहिं कीन विलम्बा॥
मोको मातु कष्ट अति घेरो। तुम बिन कौन हरै दुःख मेरो॥
आशा तृष्णा निपट सतावें। रिपु मुरख मोही डरपावे॥ 

शत्रु नाश कीजै महारानी। सुमिरौं इकचित तुम्हें भवानी॥
करो कृपा हे मातु दयाला। ऋद्धि-सिद्धि दै करहु निहाला।
जब लगि जियऊं दया फल पाऊं। तुम्हरो यश मैं सदा सुनाऊं॥
श्री दुर्गा चालीसा जो कोई गावै। सब सुख भोग परमपद पावै॥

देवीदास शरण निज जानी। करहु कृपा जगदम्ब भवानी॥

Shri Durga Chalisa In English :-


Namo Namo Durge Sukh Karani, Namo Namo Ambe Dukh Harani
Nirakar Hai Jyoti Tumhari, Tihoun Lok Phaili Uujiyaari

Shashi Lalaat Mukh Maha Vishala, Netra Lal Bhrikoutee Vikaraala
Roop Maatu Ko Adhik Suhaave, Darshan Karata Jana Ati Sukh Paave

Tum Sansar Shakti Laya Keena, Palana Hetu Anna Dhan Deena
Annapoorna Hui Tu Jag Pala, Tumhi Aadi Sundari Bala

Pralayakala Sab Nashana Haari, Tum Gouri Shiv Shankar Pyari
Shiv Yogi Tumhre Gun Gaavein, Brahma Vishnu Tumhein Nit Dhyavein

Roop Saraswati Ka Tum Dhara, Day Subuddhi Rishi Munina Ubara
Dharyo Roop Narsimha Ko Amba, Pragat Bhayi Phaad Ke Khamba

Raksha Kari Prahlad Bachaayo, Hiranyaykush Ko Swarga Pathayo
Lakshmi Roop Dharo Jag Maahin, Shree Narayan Anga Samahin

Ksheer Sindhu Mein Karat Vilaasa, Daya Sindhu Deejey Man Aasa
Hingalaja Mein Tumhi Bhavani, Mahima Amit Na Jaat Bakhani

Matangi Aru Dhoomawati Mata, Bhuvaneshwari Bagala Sukhdata
Shree Bhairav Tara Jag Tarani, Chhinna Bhala Bhava Dukh Nivarini

Kehari Vahan Soha Bhavani, Laangur Veer Chalata Agavani
Kar Mein Khappar Khadaga Virajay, Jako Dekh Kaal Dar Bhajey

Sohe Astra Aur Trishula, Jase Uthata Shatru Hiya Shoola
Nagarkot Mein Toumhi Virajat, Tihoun Lok Mein Danka Baajat

Nagarkot Mein Toumhi Virajat, Tihoun Lok Mein Danka Baajat Shumbh
Nishumbh Daanuv Tum Maare, Rakta Beej Shankhana Sanghaare

Mahishasur Nrip Ati Abhimaani, Jehi Agh Bhar Mahi Akulaani
Roop Karaal Kali ka Dhara, Sen Sahita Tum Tihin Samhara

Pari Gaarh Santana Par Jab Jab, Bhayi Sahay Matou Tum Tab Tab
Amarpuri Arubaa Sab Lokaa, Tab Mahima Sab Kahey Ashoka

Jwala Mein Hai Jyoti Tumhari, Tumhein Sada Poojey Nar Nari
Prem Bhakti Se Jo Yash Gave, Dukh Daridra Nikat Nahin Aave

Dhyaave Tumhein Jo Nar Man Layi, Janma Maran Tako Chhouti Jaayi
Yogi Sur Muni Kahat Pukaari, Yog Na Hoye Bina Shakti Tumhari

Shankara Acharaj Tap Ati Keenho, Kaam Krodh Jeet Sab Leenho
Nishidin Dhyan Dharo Shankar Ko, Kaahu Kaal Nahin Soumiro Tumko

Shakti Roop Ko Maram Na Payo, Shakti Gayi Tab Man Pachitayo
Sharnagat Huyi Kirti Bakhaani, Jai Jai Jai Jagadambe Bhavani

Bhayi Prasanna Aadi Jagadamba, Dayi Shakti Nahin Keen Vilamba
Maukon Maatu Kashta Ati Ghero, Tum Bin Kaun Harey Dukh Mero

Asha Trishna Nipat Satavein, Ripu Moorakh Mohe Ati Darpaave
Shatru Nash Kijey Maharani, Soumiron Ikchit Tumhein Bhavani

Karo Kripa Hey Maatu Dayala, Riddhi Siddhi Dey Karahou Nihaala
Jab Lagi Jiyoun Daya Phal Paoun, Tumhro Yash Mein Sada Sounaoun

Durga Chalisa Jo Nar Gaavey, Sab Sukh Bhog Parampad Pavey
Devidas Sharan Nij Jaani, Karahoun Kripa Jagadambe Bhavani



Enjoy Maiya Ka Chola Hai Rangla Sung By Bhajan Singer Lakhbir Singh Lakha With Some Beautiful Navratri Mata Rani Bhajan...

माता रानी आपके व्रतों और श्रद्धा को स्वीकार करें ,
आप और आपके परिवार को उत्तम स्वास्थ्य प्रदान करें,

Free Download Maiya Ka Chola Hai Rangla By Lakhbir Singh Lakha :-











Maa Ki Har Baat Nirali Hai Hindhi Lyrics :-


माँ की हर बात निराली है

पास की सुनती है, दूर की सुनती है,
गुमनाम के संग संग मशहूर की सुनती है ।
माँ तो आखिर माँ है माँ के भक्तो,
माँ तो हर मजबूर की सुनती है ॥

माँ की हर बात निराली है,
बात निराली है, के हर करामात निराली है,
महा दाती से सब को मिली सौगात निराली है ॥

वक़्त की चाल बदले, दुःख की जनझाल बदले,
इसके चरणों में झुककर, बड़े कंगाल बदले ।
यहाँ जो आये सवाली, कभी वो जाए न खली,
यह लाती पतझर में भी, हर चमन में हरिआली ।
काली रातो ने लाती प्रभात निराली है ॥

दया जब इसकी होती, तो कंकर बनते मोती,
जिसे यह आप जगादे, ना फिर किस्मत वो सोती ।
गमो से घिरने वाले, बड़े इस माँ ने संभाले,
फसे मझदार में बेड़े, इसी में बाहर निकाले ।
इसकी मीठी ममता की बरसात निराली है ॥

दुःख ताकती है यह, सुख बांटती है जी, हमे पालती है ये दिनरात ही ।
जादू इसका अजीब, देखो हो के करीब, यह तो बदले नसीब दिन रात ही ।
इस की रहमत हर निर्दोष के साथ निराली है ॥



Enjoy Mata Rani Navratri Bhajans With Direct Links

घबरा नहीं अब तू खड़ा मैया जी के दरबार में।
होंगी मुरादें पूरी बन्दे तेरी सब इक बार में। 

Free Download Navratri Mata Rani Mp3 Bhajans Here :-








आ जा मैया आ जा, तेरा बेटा तुझे बुलाता है।
द्वार खड़ा फैलाये झोली, दुखड़े तुझे सुनाता है।

भटक रहा दर-दर की ठोकर खाता ज्यों अंगारों में,
लगी डूबने जीवन की नैया आ के मँझधारों में।
कहाँ जाऊँ हारा मन सोचे, समझ नहीं कुछ आता है,
आ जा मैया आ जा, तेरा बेटा तुझे बुलाता है।

झर-झर बहते नैन हैं निशिदिन, भरने लगी हताशा माँ,
सुना बहुत से पूरी करती तू जन-जन की आशा माँ।
ले उम्मीद बड़ी तेरे चरणों में शीश नवाता है,
आ जा मैया आ जा, तेरा बेटा तुझे बुलाता है।

नहीं सुनेगी अगर तू मेरी, बोल कहाँ मैं जाऊँगा,
पटक-पटककर शीश तेरे मंदिर में ही मर जाऊँगा।
माँ-बेटे का होता जग में दिल का पावन नाता है,
आ जा मैया आ जा, तेरा बेटा तुझे बुलाता है।



Maa Durga is mother of love having very gracious of heart .she love her children with full of heart .she saves us against many troubles . with the blessings of Maiya rani we success our life .

Enjoy Navratri 2014 Bhajans And Songs In Mp3

दरबार तेरा दरबारों में,
एक ख़ास एहमियत रखता है ।
उसको वैसा मिल जाता है,
जो जैसी नियत रखता है ॥

Free Download Navratri Mp3 Bhajans And Songs :-



3. TERA SAHARA AMBE MAA.mp3
4. TERE DARBAR MEIN MAIYA.mp3
5. TERE DAR PE SAR JHUKAYA.mp3

6. MAIYA RANI JO AANE KA WADA.mp3

7. MAN KI MURADEN POORI KAR.mp3

8. MANA LUNGI TUJHKO IS.mp3

9. O DAATI KINJ MANDI.mp3

10. PATTHRON KE BEECH MAIYA.mp3


Pyara Saja Hai Tera Dwar Bhawani Hindhi Lyrics  :-


बड़ा प्यारा सजा है द्वार भवानी ।
भक्तों की लगी है कतार भवानी ॥

ऊँचे पर्बत भवन निराला ।
आ के शीश निवावे संसार, भवानी ॥
प्यारा सजा है द्वार भवानी ॥

जगमग जगमग ज्योत जगे है ।
तेरे चरणों में गंगा की धार, भवानी ॥
तेरे भक्तों की लगी है कतार, भवानी ॥

लाल चुनरिया लाल लाल चूड़ा ।
गले लाल फूलों के सोहे हार, भवानी ॥
प्यारा सजा है द्वार, भवानी ॥

सावन महीना मैया झूला झूले ।
देखो रूप कंजको का धार भवानी ॥
प्यारा सजा है द्वार भवानी ॥

पल में भरती झोली खाली ।
तेरे खुले दया के भण्डार, भवानी ॥
तेरे भक्तों की लगी है कतार, भवानी ॥

लक्खा को है तेरा सहारा माँ ।
करदे अपने सरल का बेडा पार, भवानी ॥
प्यारा सजा है द्वार भवानी ॥



Raas or Dandiya Raas is the traditional folk dance form of Gujarat, India,originated in Vrindavan by Lord Krishna, where it is performed depicting scenes of Holi, and lila of Krishna and Radha. Along with Garba, it is the featured dance of Navratri evenings in Western India. During Navratri festival, in most of the cities of Gujarat and in Mumbai people gather and perform Garba dance.

Origin of Dandiya Raas :-

Originating as devotional Garba dances, which were always performed in Durga's honour, this dance form is actually the staging of a mock-fight between the Goddess and Mahishasura, the mighty demon-king, and is nicknamed "The Sword Dance". During the dance, dancers energetically whirl and move their feet and arms in a complicated, choreographed manner to the tune of the music with various rhythms. The dhol is used as well as complementary percussion instruments such as the dholak, tabla and others.

The sticks (dandiyas) of the dance represent the swords of Durga. The women wear traditional dresses such as colorful embroidered choli, ghagra and bandhani dupattas (traditional attire) dazzling with mirror work and heavy jewellery. The men wear special turbans and kedias, but this varies regionally.

Garba is performed before Aarti (worshipping ritual) as devotional performances in the honor of the Goddess, while Dandiya is performed after it, as a part of merriment. Men and women join in for Dandiya Raas, and also for the Garba. The circular movements of Dandiya Raas are much more complex than those of Garba. The origin of these dance performances or Raas is Krishna. Today, Raas is not only an important part of Navratri in Gujarat, but extends itself to other festivals related to harvest and crops as well. The Mers of Saurastra are noted to perform Raas with extreme energy and vigor.

History :-

The Dandiya Raas dance originated as devotional Garba dances, which were performed in Goddess Durga’s honor. This dance form is actually the staging of a mock-fight between Goddess Durga and Mahishasura, the mighty demon-king. This dance is also nicknamed ‘The Sword Dance’. The sticks of the dance represent the sword of Goddess Durga.

The origin of these dances can be traced back to the life of Lord Krishna. Today, Raas is not only an important part of Navaratri in Gujarat but extends itself to other festivals related to harvest and crops as well.

Enjoy Mata Rani Navratri Special Dandiya And Garba Bhajans Sung By Dandiya Falguni Pathak....

Free Download Falguni Pathak Dandiya And Garba Bhajans :-




Bonus Track Bollywood Songs DJ Mix On Garba.

6. Non Stop Bollywood garba Mix.mp3


हेल्लो हाय छोड़िए जय माता दी बोलिए।
टाटा बाय छोड़िए जय माता दी बोलिए॥

मैया का दर सब से सुन्दर सबसे प्यारा धाम है,
जगदम्बे माता का जग में सबसे ऊँचा नाम है।
इस से नाता जोडीये, जय माता दी बोलिए॥

एक बार जो सच्चे मन से माँ का नाम धयाए गा,
भोली भाली मैया से वो मन चाहा फल पायेगा।
झूठे बंधन तोडिये, जय माता दी बोलिए॥

मैया जी के नाम की महिमा जिस जिस ने भी गई है,
मैया जी के दिल में उसने अपनी जगह बनायी है।
दिल ना मेरा तोडिये, जय माता दी बोलिए॥

Good morning Good night सब छोड़ो बोलो जय माता दी,
जितने भी हैं माँ के प्यारे भक्तो बोलो जय माता दी।
‘चंचल’ जिद को छोड़िए, जय माता दी बोलिए॥



Album : Aarti, Volume 3
Singer : Anuradha Paudwal
Genres : Devotional & Spiritual, Music, Indian, World, Asia, Indian Pop
Released : 11 June 1989
Label : Super Cassettes Industries Ltd.

Free Download Aarti, Vol. 3 Arun Paudwal Complete Album :-


01 - Jai Ganesh Deva .mp3

02 - Jai Shiv Omkara.mp3

03 - Hanuman Lala Ki.mp3

04 - Om Jai Lakshmi Mata.mp3

05 - Shree Ramayan Ji ki.mp3

06 - Jai Ambe Gauri.mp3

08 - Aaarti Kunj Bihari Ki.mp3

09 - Jai Santoshi Mata.mp3

10 - Jai Gange Mata.mp3

11 - Om Jai Jagdish Hare.mp3

12 - Om_Jai_Saraswati_Mata.mp3

Om Jai Jagdish Hare, Swami Jai Jagdish Hare Hindi Lyrics :-



ओम जय जगदीश हरे, स्वामी जय जगदीश हरे
भक्त जनों के संकट, दास जनों के संकट
क्षण में दूर करे, ओम जय...

जो ध्यावे फल पावे, दुख बिनसे मन का
स्वामी दुख बिनसे मन का
सुख सम्पति घर आवे, कष्ट मिटे तन का,  ओम जय...

मात पिता तुम मेरे, शरण गहूँ किसकी
स्वामी शरण गहूँ मैं किसकी
तुम बिन और न दूजा, आश करूँ किसकी,  ओम जय...

तुम पूरण परमात्मा, तुम अंतरयामी
स्वामी तुम अंतरयामी
परम ब्रह्म परमेश्वर, तुम सबके स्वामी,  ओम जय...

तुम करुणा के सागर, तुम पालन करता
स्वामी तुम पालन करता
दीन दयालु कृपालु, कृपा करो भरता,  ओम जय...

तुम हो एक अगोचर सबके प्राण पति
स्वामी सबके प्राण पति
किस विधि मिलूँ दयामी, तुमको मैं कुमति,  ओम जय...

दीन बंधु दुख हरता, तुम रक्षक मेरे
स्वामी तुम रक्षक मेरे
करुणा हस्त बढ़ाओ, शरण पड़ूं मैं तेरे,  ओम जय...

विषय विकार मिटावो पाप हरो देवा
स्वामी पाप हरो देवा
श्रद्धा भक्ति बढ़ाओ संतन की सेवा,  ओम जय...



Navratri ( नवरात्री ) is a festival dedicated to the worship of the Hindu deity Durga. The word Navaratri literally means nine nights in Sanskrit, nava meaning nine and ratri meaning nights. During these nine nights and ten days, nine forms of Shakti/Devi are worshiped. The tenth day is commonly referred to as Vijayadashami or "Dussehra." Navratri is a very important and major festival in the western states of Gujarat, Maharashtra, and Karnataka during which the traditional dance of Gujarat called "Garba" is widely performed.

Free Download Navratri Special DJ Mix Mp3 Bhajans Here :-





Enjoy Live Bhagwat Bhajans Sung By Shardey Shri Gaurav Krishna Goswami Ji Maharaj And Shri Mridul Krishna Goswami Ji Maharaj.

कुम्हार मिट्टी देखकर, खूब रहो इठलाइ।
मिट्टी हंस कुम्हार पर, तू भी माटी में मिल जाय।।

Free Download Bhagwat Bhajans By Mridul Gaurav Ji :-




Mukh sona nahi lagda raam bina hindi lyrics :-


चाहे लख लख बात बनाईये , मुख सोना नही लगदा राम बिना ।
चाहे लख लख बात बनाईये , मुख सोना नही लगदा श्याम बिना ।

अंख सोनी नहीं प्रभु दे दर्श बिना, 
चाहे लख लख काजल पाईये , मुख सोना नही लगदा राम बिना...

कान सोने नही प्रभु की कथा बिना,
चाहे लख लख कुण्डला पाईये, मुख सोना नही लगदा राम बिना...

काया सोनी नही लगदी भजन बिना,
चाहे मल मल रोज़ नहाइए, मुख सोना नही लगदा राम बिना...

पग सोने नही वृन्दावन जाए बिना,
चाहे जग सारा  घूम आईये,  मुख सोना नही लगदा राम बिना...



Shri Radhe Sharnam Mamah Dhun Sung By Pandit Jasraj...

श्री राधै शरणम् ममः 

Free Download Shri Radhe Sharnam Mamah Dhun :-




राधे झूलन पधारो झुक आये बदरा ,
झुक आये बदरा , घिर आये बदरा |

ऐसो मान नहीं कीजै ,हठ छोड़ो री अली,
तुम तो परम सयानी , वृषभान की लली ||१||

साजो सोलह श्रृंगार, डालो नैनन कजरा
पहनो पचरंग साड़ी ,ओढो श्याम चदरा ||२||

तेरो रसिक प्रीतम , मग जोहत खड़ो ,
राधे जहाँ पग धरो ,श्याम नैना धरो ||३||

डारी रेशम डोरी ,जा पे झूले राधा गोरी ,
जाकी बैया गोरी गोरी ,पहने हाथन गजरा ||४||

राधे झूलन पधारो झुक आये बदरा ,
झुक आये बदरा , घिर आये बदरा |



Album : Jagjit Singh - Shiva
Category : Devotional
Artist : Jagjit Singh
Year : 2012
Label : Saregama

Free Download Jagjit Singh - Shiva Dhuns And Bhajans Album :-




Hey Shiv Shankar Hey Karunakar Hindhi Lyrics :-


हे शिव शंकर, हे करुणाकर!
सुन लो अरज हमारी~~!!
भव सागर से पार उतारो!
आया मै शरण तिहारी~~!!!
हे शिव शंकर, हे करुणाकर....!

चंद्र ललाट...भभूत रमाये...
कटि बाघम्बर धारे...
कर में डमरू...गले भुज़ंगा..
नंदी ठाढों द्वारे.....
हे गंगाधर दरश दिखा दो... 
हे भोले भंडारी...

जन्म-मरण के.. तुम हो स्वामी...
हे शंकर अविनाशी....
कण-कण में है... रूप तुम्हारा.. 
हे भोले कैलाशी...
चरण-शरण में आया जोगी.. 
राखियों लाज हमारी...

¥ ॐ नमः शिवाय ¥



Album : Raghupati Raghav Rajaram - Dhun
Singer : Hariharan
Category : Devotional
Year : 1999
Label : T-Series

Free Download Raghupati Raghav RajaRam By Hariharan :-



Raghupati Raghav RajaRam Hindhi Lyrics :-


रघुपति राघव राजाराम,
पतित पावन सीताराम |

सीताराम सीताराम,
भज प्यारे तू सीताराम |

ईश्वर अल्लाह तेरो नाम,
सब को सन्मति दे भगवान |

जय रघुनंदन जय सिया राम,
जानकी वल्लभ सीताराम |

रघुपति राघव राजाराम,
पतित पावन सीताराम |



Enjoy Some Beautiful Radha krishna Bhajans Sung By Shri Rajiv Chopra Ji

मनके हारे हार है, मनके जीते जीत ,
मन ही मिलाए राम से, मनही करे फजीत
मनसे ही बंदन है , मन से ही मुक्ति ....
जय जय श्री राधे  

Free Download Rajiv Chopra Radha Krishna Bhajans :-




Naam Sundar Bada Shyam Sundar Ka Hindhi Lyrics :-


नाम सुन्दर बड़ा श्याम सुन्दर का, 
ये गोपाल भी यही गिरधर है....
बंशी बजैय्या का क्या कहना, 
कृष्ण कन्हैया का क्या कहना.....

ये नटवर नगर है, दया का सागर है,
ये बंशी बजाता है चैन चुराता है.....

मोर मुकुट पीताम्बर सोहे, 
माल वैजयंती अति मन मोहे...
श्याम वरण है श्याम सलोना,
लीलाधारी है मनमोहना...

सबसे ऊँची प्रेम सगाई,
कृष्ण ने येही सीख शिखायी....
मित्र सुदामा की मन की जानी,
उसकी अंतर की पहचानी.....

एक हाथ में चक्र शुदर्शन,
दूजे हाथ में बंशी मनोरम.....
दुष्टो को ये मार गिराता,
भक्तो को ये गले से लगाता.....

नाम सुन्दर बड़ा श्याम सुन्दर का, 
ये गोपाल भी यही गिरधर है....
बंशी बजैय्या का क्या कहना, 
कृष्ण कन्हैया का क्या कहना.....



Enjoy Ganesh Mantra NonStop Dhun And Bhajan

वक्रतुंड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ:। 
निर्विध्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा॥

ओम गंग गणपतये नमो नमः,
श्री सिद्धिविनायक नमोः नमः,
अष्ट विनायक नमोः नमः .....
गणपति बप्प्पा मोरिया....

Free Download Ganesh Mantra NonStop Dun Mp3 :- 




श्री गणपती संकटनाशन-स्तोत्र :-


प्रणम्य शिरसा देवं गौरीपुत्रं विनायकम्

भक्तावासं स्मरेनित्यम आयुष्कामार्थ सिध्दये ॥१॥


प्रथमं वक्रतुण्डं च एकदन्तं द्वितीयकम्

तृतीयं कृष्णपिङगाक्षं गजवक्त्रं चतुर्थकम ॥२॥


लम्बोदरं पञ्चमं च षष्ठं विकटमेव च

सप्तमं विघ्नराजेन्द्रं धुम्रवर्णं तथाषष्टम ॥३॥


नवमं भालचंद्रं च दशमं तु विनायकम्

एकादशं गणपतिं द्वादशं तु गजाननम ॥४॥


द्वादशेतानि नामानि त्रिसंध्यं य: पठेन्नर:

न च विघ्नभयं तस्य सर्वसिध्दीकर प्रभो ॥५॥


विद्यार्थी लभते विद्यां धनार्थी लभते धनम्

पुत्रार्थी लभते पुत्रान्मोक्षार्थी लभते गतिम ॥६॥


जपेद्गणपतिस्तोत्रं षडभिर्मासे फलं लभेत्

संवत्सरेण सिध्दीं च लभते नात्र संशय: ॥७॥


अष्टभ्यो ब्राह्मणेभ्यश्च लिखित्वा य: समर्पयेत

तस्य विद्या भवेत्सर्वा गणेशस्य प्रसादत: ॥८॥


इति श्रीनारदपुराणे संकटनाशनं नाम श्रीगणपतिस्तोत्रं संपूर्णम ||



Album : Magic of Anup Jalota: Ram Bhajans, Vol. 1
Year : 2008
Artist : Anup Jalota
Genre : International, Religious 
Styles : Indian, Indian Classical, Indian Subcontinent Traditions

Free Download Magic of Anup Jalota  Ram Bhajans Vol. 1 :-




Download Complete Bhajan Album With 10 Songs Here 

Thumaka chalat raamachandra Hindhi Lyrics:-


ठुमक चलत रामचंद्र बाजत पैजनियाँ .

किलकि किलकि उठत धाय गिरत भूमि लटपटाय
धाय मात गोद लेत दशरथकी रनियाँ .

अंचल रज अंग झारि विविध भांति सो दुलारि
तन मन धन वारि वारि कहत मृदु बचनियाँ .

विद्रुमसे अरुण अधर बोलत मुख मधुर मधुर
सुभग नासि कामें चारु लटकत लटकनियाँ .

तुलसीदास अति आनंद देखके मुखारविंद
रघुवर छबिके समान रघुवर छबि बनियाँ .

Lyrics In English :-


Thumaka chalat raamacha.ndra baajat paijaniyaaN .

kilaki kilaki uThat dhaay girata bhuumi laTapaTaay
dhaaya maat god let dasharathakii raniyaaN .

a.nchala raja anga jhaari vividh bhaa.nti so dulaari
tana mana dhana vaari vaari kahata mR^idu bachaniyaaN .

vidrumase aruN adhara bolata mukha madhura madhura
subhaga naasi kaame.n chaaru laTakata laTakaniyaaN .

tulasiidaas ati aana.nda dekhake mukhaaravinda
raghuvara chhabike samaana raghuvara chhabi baniyaaN 



Enjoy Hari Ka Bhajan Karo Hari Hai Tumhara Sung By Shardey Shri Gaurav Krishna Goswami Ji Maharaj With Some Goverdhan Pooja Or Banke Bihari Ji Bhajans...

कछु माखन को बल बढ्यो,
कछु गोपन करयो सहाय ....
श्री राधे जू कि कृपा ते,
मैंने गिरवर लियो उठाये....

Free Download Shri Gaurav Krishna Goswami Ji Maharaj Bhajans :-




Hari Ka Bhajan Karo Hari Hai Tumhara Hindhi Lyrics :-


हरि का भजन करो हरि है तुम्हारा |
हरि के भजन बिन, नहीं गुजारा ||

हरि नाम से तेरा काम बनेगा |
हरि नाम ही तेरे साथ चलेगा ||
हरि नाम लेने वाला,
हरि का है प्यारा ||

कोई काहे राधेश्याम, कोई काहे सीताराम |
कोई गिरिधर गोपाल, कोई राधामाधव लाल |
वोही हरि दीन बंधू, वोही करी करुना सिन्धु, नमो बारम्बारा ||

सुख़ दुःख भोगे जाओ, लेखा सब मिटाते जाओ |
हरि गुण जाओ, हरि को रिझाते जाओ |
वोही हरि दीन बंधू, वोही करी करुना सिन्धु, सब का है प्यारा ||

दीनो पर दया करो, बने तो सेवा भी करो |
मोह सब दूर करो, प्रेम हरि ही से करो |
यही भक्ति यही योग, यही ज्ञान सारा ||

हरि का भजन करो हरि है तुम्हारा |
हरि के भजन बिन, नहीं गुजारा ||