Jadu Bhari Teri Ankhe Jidhar Gayi Gaurav Krishna Ji



Jadu Bhari Teri Ankhe Jidhar Gayi Ghaayal Karke Jigar Mein Utar Gayi.....With Some Other Bhajans Sung By Shri Mridul Krishna Ji And Gaurav Krishna Ji Maharaj...

यमुना जी का तट हो, माथे पे मुकुट हो...
अधर मुरली हो, चेहरे पे हँशी हो...
खड़े होंगे आप इस बांकी अदा से....
मुकुट झुक रहा होगा, मौज-ऐ-हवा से....
अगर इस तरह होगा अंजाम मेरा....
तो तेरा नाम होगा और काम मेरा.....

Free Download Mridul Gaurav Krishna Ji Banke Bihari Bhajans :-



6. Jadoogar Sayya Mera Dil Loot Le Gya By Gaurav Krishna Ji.mp3

7. Jai Jai Bholenath + Shankar Damruwala By Gaurav Krishna Ji.mp3

8. Jai Jai Govind Govind Gopal Hari By Gaurav Krishna Ji.mp3

9. Jai Madhav Madan Murari Radhe Shya Shyama Shyam By Mridul Krishna Ji.mp3

10. Jai Nandnandan Jai Ghanshyam By Gaurav Krishna Ji.mp3


Jadu Bhari Teri Ankhe Jidhar Gayi Hindi Lyrics :-


Jadu Bhari Teri Ankhe Jidhar Gayi

जादू भरी तेरी आँखे जिधर गयी 
घायल करके जिगर में उतर गयी...
अब पल पलक टरत नहीं टारे
छीन छोरत मनु जान निकल गयी...
घायल करके जिगर में उतर गयी.....

ओ निरख छठा घनघोर घठा,
भावना सी उमड़ गयी....
घायल करके जिगर में उतर गयी...
जादू भरी तेरी आँखे जिधर गयी.....

हँसना तो उन्हां दी आदत सी, 
असि गलत अंदाज़ा ला बैठे,
वो हँसते हँसते वसदे रहे,
हम अपना आप गावं बैठे....

में तुझे देखू तू मुझे देख, 
और देखते देखते हो जाये एक...

अब पल पलक तरक नहीं तारे,
छिन छोरत मनु जान निकल गयी...
घायल करके जिगर में उतर गयी...
जादू भरी तेरी आँखे जिधर गयी.....

लाली मेरे यार की जित्त देखूँ तित लाल,
और लाली देखण में चली में भी हो गई लाल....
जादू भरी तेरी आँखे जिधर गयी 
घायल करके जिगर में उतर गयी...

जब से उन आँखों से आँखे मिली, 
हो गयी है तभी से ये बावरी आँखे.....

नहीं धीरज धरे अति व्याकुल है, 
ऊप जाती है ये फुलकावरी आँखे....

कुछ जादू भरी कुछ भाव भरी, 
उस सावंरे की है वो सावँरी आँखे...

फिर से वही रूप दिखादे कोई, 
हो रही है बड़ी ही उतावरी आँखे...

जादू भरी तेरी आँखे जिधर गयी 
घायल करके जिगर में उतर गयी...

नैन कटारी बारी बारी पलकन मारी,
ओ जादू की पिटारी जिया छुईमुई कर गयी....
घायल करके जिगर में उतर गयी...
जादू भरी तेरी आँखे जिधर गयी 

Share To:

Dheeraj4uall

Post A Comment:

0 comments so far,add yours