10_16


Shradyey Gaurav Krishna Goswami Ji And Shri Mridul Krishna Goswami Ji Bhajans 2016

"जूनून परस्त हूँ दीवानगी से रिश्ता है
मेरा खुदी से नहीं बेखुदी से रिश्ता है
यकीं न हो तो मेरे दिल को चीर के देखो
तुम्हारे दर से मेरी ज़िन्दगी का रिश्ता है"

Download Mujhe Tera Deevana Bana Diya By Gaurav Ji :-





Teri Banki Ada Ne O Saanware (Gaurav Krishna Goswami) Hindi Lyrics :-


तेरी बांकी अदा ने ओ सांवरे
मुझे तेरा दीवाना बना दिया
हो मुझे तेरा दीवाना बना दिया
तेरा टेड़ा मुकुट तेरी बाँकी छटा
तेरा बांका मुकुट तेरी बांकी छटा
तूने हमें भी आशिक़ बना दिया
तेरी बांकी अदा ने............

वृन्दावन वारे मेरे बांके बिहारी 
तेरा रूप देख देख जाऊं वारी वारी
'ओ पिया तुम्हारा रूप है
ये कैसा साहूकार
मेरे नैना गिरवी रख लिए
जो दर्श किया एक बार"
वृन्दावन वारे मेरे बांके बिहारी
तेरा रूप देख देख जाऊं वारी वारी.....

कैसा जादू कान्हा तेरी इस रूप माधुरी में है
हो जो भी वृन्दावन आ जाता है
हो वो तो तेरा ही हो जाता है
उसे ध्यान किसी का ना रहता है
वो तो तेरे गुण फिर गाता है.......

तेरी बांकी अदा ने ओ सांवरे
मुझे तेरा दीवाना बना दिया....
तेरा प्यार है मेरी जिंदगी
हो तेरा प्यार है मेरी जिंदगी
हो बस मेरी जिंदगी तेरा प्यार है
बस मेरी जिंदगी तेरा प्यार है

"खूबसूरत तेरा मुस्कुराना लगे
ये मेरी आरज़ू का फसना लगे
तेरा हर एक बहाना मुझे सच लगे
हो मेरा सच भी तुझे एक बहाना लगे"
बस मेरी जिंदगी तेरा प्यार है.....

"चाहा है तुझे टूट के इतना खयाल कर
हो रखा है मैंने दिल में तेरा गम संभाल कर"
क्यों कि बस मेरी जिंदगी तेरा प्यार है
हो बस मेरी जिंदगी तेरा प्यार है
"हम कैसे छुए अपने कर से
पद पंकज है सुकुमार तेरा
हरे कृष्ण बसा इन नैनन में
वह सुन्दर रूप उदार तेरा....

तन पे मन पे धन पे सब पे
इस जीवन पे अधिकार तेरा
नहीं और किसी की जरुरत है
हम को चाहिए बस प्यार तेरा~
क्यू कि बस मेरी जिंदगी तेरा प्यार है
हो बस मेरी जिंदगी तेरा प्यार है........

"जूनून परस्त हूँ दीवानगी से रिश्ता है
मेरा खुदी से नहीं बेखुदी से रिश्ता है
यकीं न हो तो मेरे दिल को चीर के देखो
तुम्हारे दर से मेरी ज़िन्दगी का रिश्ता है"
क्यों कि बस मेरी जिंदगी तेरा प्यार है
हो बस मेरी जिंदगी तेरा प्यार है.....

तेरा प्यार है मेरी जिंदगी
मेरा काम है तेरी बंदगी
जो तेरी ख़ुशी वो मेरी ख़ुशी
हो मुझे होश है ना खयाल है
तूने ऐसा जादू चला दिया....

तेरी बांकी अदा ने ओ सांवरे
मुझे तेरा दीवाना बना दिया......

"मेरे दिल में तू ही तू बसा
हो बस तू बसा दिल में मेरे
तेरा नाम लूं जुबां से
तेरे आगे सर झुका दूं.....

मेरा इश्क़ कह रहा है
तुझ पे दिल-ओ-जान लुटा दूं"
""तेरी दिल्लगी के सदके
तेरी रहमतों पे कुर्बा
तूने इतना कुछ दिया है
तुझे कैसे मैं भुला दूं""

"आँखों में तेरी सूरत
तेरी याद मेरे दिल में
तुम्हे कितना चाहता हूँ
बोलो तो मैं बता दूं".....

मेरे दिल में तू ही तू बसा
मेरे दिल में तू ही तू बसा
मुझे छाया तेरा ही नशा
मैं जिस्म हूँ मेरी जान तू
तेरा जादू जब से सवार है

मुझे चैन है ना करार है
तूने हम को जीना सिखा दिया
तेरी बांकी अदा ने ओ सांवरे
मुझे तेरा दीवाना बना दिया


Jaya Kishori Ji

Jaya Kishori Ji Sushvani Mata Rani Arti, Bhajans, Maa Saraswati Prayers,  Shiv Bhajans And Shyam Arti Bhajans

Download Jaya Kishori Ji Bhajans Here :-





माँ शारदा की स्तुति

माँ शारदे !

कहाँ तू वीणा बजा रही हैं,
किस मंजु ज्ञान से तू जग को लुभा रही हैं,
किस भाव में भवानी तू मग्न हो रही है,
विनती नहीं हमारी तू क्यों माँ सुन रही है,
हम दीन बाल कब से विनती सुना रहें हैं,
चरणों में तेरे माता हम सिर झुका रहे हैं,
अज्ञान तुम हमारा माँ शीघ्र दूर कर दो,
द्रुत ज्ञान शुभ्र हममें ओ वीणा पाणिभर दो,
बालक सभी जगत के सूत मातु हैं तुम्हारे,
प्राणों से प्रिय तुम्हें हम पुत्र सब दुलारे,
हमको दयामयी ले निज गोद में पढाओ,
अमृत जगत का हमको माँ शारदा पिलाओ,
मातेश्वरी ! सुनो अब सुंदर विनय हमारी,
कर दया दृष्टी हर लो , बाधा जगत की सारी 



Jaya Kishori Ji Baba Shyam Bhajans Album In Haryaanvi - 'Main Hoon Chori Haryane Ki'

Free Download Jaya Kishori Ji Haryaanvi  Bhajans :-
 


जगत के साज बाजों से हुए हैं कान अब बहरे
हुए हैं कान अब बहरे कहाँ जाके सुनूँ बंशी
कहाँ जाके सुनूँ बंशी मधुर वो तान काफी है
जगत के रंग क्या देखूं तेरा दीदार काफी है....



Lakhbir Singh Lakha is one of the finest singer known for his devotional. songs across India.
Here Are  Lakhbir Singh Lakha's Some Devi Durga Mata Navrtra Bhajans

तेरी छाया मे,
तेरे चरणों मे,
मगन हो बेठु,
तेरे भक्तो मे॥॥

Free Download Durga Mata Navrtra Bhajans :-





Tere Darbar Mein Maiya Khushi Milti Hai Hindi Lyrics :-


तेरे दरबार मे मैया खुशी मिलती है,
जिंदगी मिलती है रौतौ को हँसी मिलती है॥॥

इक अजब सी मस्ती तन मन पे छाती है,
हर इक जुबां तेरे ओ मैया गीत गाती है,
बजते सितारों से मीठी पुकारो से,
गूंजे जहाँ सारा तेरे ऊँचे जयकारो से,

मस्ती मे झूमे तेरा दर चूमे,
तेरे चारो तरफ़ दुनिया ये घुमे,
ऐसी मस्ती भी भला क्या कही मिलती है,
तेरे दरबार मे मैया खुशी मिलती है॥॥

मेरी शेरों वाली माँ तेरी हर बात अच्छी है,
करनी की पूरी है माता मेरी सच्ची है,
सुख दुख बँटाती है अपना बनाती है,
मुश्किल मे बच्चे को माँ ही काम आती है,

रक्छा करती है भक्त अपने की,
बात सच्ची करती उनके सपनो की,
सारी दुनिया की दौलत यही मिलती है,
तेरे दरबार मे मैया खुशी मिलती है॥॥

रोता हुआ आये जो हँसता हुआ जाता है,
मन की मुरादो को वो पाता हुआ जाता है,
किस्मत के मारो को रोगी बीमारों को,
करदे भला चंगा मेरी माँ अपने दुलारौ को,

पाप कट जाये चरण छूने से,
महकती है दुनिया माँ धुने से,
फ़िर तो माँ ऐसी कभी क्या कही मिलती है,

तेरे दरबार मे मैया खुशी मिलती है॥॥



Navratri Mata Rani Bhajans Sung By Various Artists

चलो भुलावा आया है, माता ने बुलाया है |
ऊँचे परबत पर रानी माँ ने दरबार लगाया है ||
सारे जग मे एक ठिकाना, सारे गम के मारो का,
रास्ता देख रही है माता, अपने आख के तारों का |
मस्त हवाओं का एक झोखा यह संदेसा लाया है ||

Free Download Navratri Mata Rani Bhajans Here :-





Santoshi Mata Arti Lyrics :-


जय सन्तोषी माता, मैया जय सन्तोषी माता।
अपने सेवक जन की सुख सम्पति दाता ।।
जय सन्तोषी माता....

सुन्दर चीर सुनहरी मां धारण कीन्हो।
हीरा पन्ना दमके तन श्रृंगार लीन्हो ।।
जय सन्तोषी माता....

गेरू लाल छटा छबि बदन कमल सोहे।
मंद हंसत करुणामयी त्रिभुवन जन मोहे ।।
जय सन्तोषी माता....

स्वर्ण सिंहासन बैठी चंवर दुरे प्यारे।
धूप, दीप, मधु, मेवा, भोज धरे न्यारे।।
जय सन्तोषी माता....

गुड़ अरु चना परम प्रिय ता में संतोष कियो।
संतोषी कहलाई भक्तन वैभव दियो।।
जय सन्तोषी माता....

शुक्रवार प्रिय मानत आज दिवस सोही।
भक्त मंडली छाई कथा सुनत मोही।।
जय सन्तोषी माता....

मंदिर जग मग ज्योति मंगल ध्वनि छाई।
बिनय करें हम सेवक चरनन सिर नाई।।
जय सन्तोषी माता....

भक्ति भावमय पूजा अंगीकृत कीजै।
जो मन बसे हमारे इच्छित फल दीजै।।
जय सन्तोषी माता....

दुखी दारिद्री रोगी संकट मुक्त किए।
बहु धन धान्य भरे घर सुख सौभाग्य दिए।।
जय सन्तोषी माता....

ध्यान धरे जो तेरा वांछित फल पायो।
पूजा कथा श्रवण कर घर आनन्द आयो।।
जय सन्तोषी माता....

चरण गहे की लज्जा रखियो जगदम्बे।
संकट तू ही निवारे दयामयी अम्बे।।
जय सन्तोषी माता....

सन्तोषी माता की आरती जो कोई जन गावे।
रिद्धि सिद्धि सुख सम्पति जी भर के पावे।।
जय सन्तोषी माता....